फायरमैन में करियर दसवी बारहवी पास विद्यार्थियों के लिए फायरमैन एक अच्छा करियर विकल्प है  | फायरमैन अग्निशमन विभाग की अहम् कड़ी होता है ,जो न सिर्फ गगनचुम्बी इमारतों , बल्कि अन्य स्थानों पर लगी आग से सबसे आगे रह कर जूझता है और लोगो की जान बचाता है  | इसलिए यदि कहा जाये फायरमैन के बिना के बिना आग से लड़ना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है तो अतिशयोक्ति नहीं होगी | आग लगने की किसी भी आपात स्थिति में सबसे पहले फायरमैन ही सक्रिय होता है और आग पर काबू पाने की हर संभव कोशिश करता है | इस कार्य को उच्चकोटी की समाज व् देश सेवा का पर्याय माना  जा सकता है | लिहाजा , इसे बतौर करियर अपना कर अपना और समाज का हित किया जा सकता है | शैचनिक योग्यता फायरमैन बनने के लिए अभ्यस्र्थी का किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से १० या १२ वि  पास होना जरुरी है | इसके लिए छह महीने का सर्टिफिकेट कोर्स और एक साल का डिप्लोमा कराया जाता है | इस दौरान उसी आग बुझाने के यंत्रो  की तकनिकी जानकारी ,अलार्म ,पानी की बौछार का सटीक इस्तेमाल और कम से कम समय और संसाधनों में ज्यादा से ज्यादा जान-माल की रक्षा करना सिखाया जाता है | आकाश इंस्टिट्यूट ऑफ़ फायर एंड सेफ्टी इंजीनियरिंग के निदेशक कहते है की फायर सर्विसेज में रोजगार की अपार सम्भावनाये है | होटल व् माल से लेकर सरकारी और गैर-सरकारी जगहों पर फायरमैन की डिमांड है | पहले सिर्फ महानगरो में फायर स्टेशन होते थे , आज हर जिले में है |हर जगह फायर फाइटिंग टीमे बनाई जाती है ,जिसमे सबसे अधिक फायरमैन की जरुरत होती है | इसलिए आकाश इंस्टिट्यूट ऑफ़ फायर एंड सेफ्टी इंजीनियरिंग अपने संस्थान से अच्छी उप्लाभधताओ के साथ आपको फायर एंड सेफ्टी में करियर बनाने के अवसर देता है | यह भारत में एक ऐसा इंस्टिट्यूट है जो फायर फाइटिंग अपना खुद का काम करता है और उसमे रोजगार उपलभ्द करता है |

अच्छे संस्थान से पढिये और अच्छा रोजगार पाईये..